Recent Post
 

My School Essay In Hindi – मेरे विद्यालय पर निबंध

My School Essay In Hind - मेरे विद्यालय पर निबंध

My School Essay In Hindi. प्रिय छात्रों, आज के इस Essay में हम पड़ेगे my school essay In Hindi के बारे मैं. यानि कि मेरे विद्यालय पर निबंध. मेरे स्कूल पर निबंध, मेरा प्रिय स्कूल पर निबंध में आपको बता दूँ की ये my school essay In Hindi सिर्फ 1st to 12th class के students के लिए ही है.

Covering Topics – My School Essay In Hindi – मेरे विद्यालय पर निबंध

  • Introduction My School Essay– विद्यालय निबंध पर प्रस्तावना.
  • Building Structure Of My School – मेरे स्कूल की निर्माण संरचना
  • Faculty Of My School – मेरे विद्यालय के विभाग
  • Events Of My School – मेरे विद्यालय में कार्यक्रम
  • Facility of My School – मेरे विद्यालय में सुविधाये
  • My School Essay Conclusion In Hindi – विद्यालय निबंध पर निष्कर्ष.
  • Essay My School 10 Lines For Class 2 – कक्षा 2 के लिए मेरे विद्यालय पर निबंध  10 लाइनें.

तो चलिए पढ़ना शुरू करते है my school essay के बारे मैं. में तो सिर्फ यही कहूँगा की ये जो school वाला समय होता है. हमारे जीवन का सबसे अच्छा समय होता है. तो बस my school essay में हमें इसी समय को अपने words में लिखना होता है.

School एक ऐसा स्थान है जहां हम अपने जीवन में बहुत ही सुन्दर पल जोड़ते है. Colleges/Schools मैं हम अपने जीवन का सबसे ज्यादा अनमोल समय व्यतीत करते है. School मैं हम बहुत कुछ सीखते, पड़ते है. स्कूल में हमें हमारे गुरु(Teachers) पढ़ाते है, ढाँढते है, खिलाते है, ज्ञान देते है. इसलिए school को ज्ञान का मंदिर भी कहा जाता है और ज्ञान की देवी सरस्वती माता की भी हम स्कूल में आराधना करते है.

स्कूल में हमारे अध्यापक हमेशा हमे सफल बनाने का रास्ता दिखाते है. एक विद्यार्थी के सफल होने पर जितनी मेहनत विद्यार्थी करता है ठीक उतनी ही मेहनत उसका स्कूल भी करता है. आज में इस essay में my school essay के बारे मैं लिख रहा हूँ.

Essay My School 10 Lines For Class 2 – कक्षा 2 के लिए मेरे विद्यालय पर निबंध  10 लाइनें.

  • में पीवी गर्ल्स इंटर कॉलेज में पढ़ती हूँ मेरा स्कूल आगरा का जाना माना स्कूल है.
  • मेरे स्कूल में बहुत सरे गेम्स और प्रोग्राम होते है. और उन प्रोग्राम में बहार से जज आते है. जज हमारे स्कूल की बहुत प्रशंसा करते है.
  • मेरे स्कूल में एनसीसी भी है जो की हाई स्कूल करने के बाद मिलती है. हमारे स्कूल में 15 अगुस्त को कई सरे गेम्स के साथ एनसीसी की प्रतियोगिता भी रखी जाती है.
  • हमारे स्कूल की D.E.I स्कूल से प्रतियोगिता होती है. जिसमे D.E.I की छात्रा और पीवी की छात्रा एनसीसी में परेड करती है. जो भी स्कूल वाले प्रथम आते है. उसको एनसीसी की ट्रोफी मिलती है,
  • हमारे स्कूल में कंप्यूटर लैब,लाइब्रेरी, केमिस्ट्री लैब की आदि की सारी सुविधा है इसमें हमको बहुत सारी नॉलेज, इनफार्मेशन दी जाती है.
  • हम लोग अपने स्कूल में ही नही दुसरे राज्यों में जाके अपने स्कूल का नाम रोशन करते है. और हमारे स्कूल में भी दुसरे राज्यों से टीचर आते है. कई सारे प्रोग्राम करते है.
  • हमारे स्कूल सभी अन्य विषयों के साथ साथ सोशल सर्विस का भी पढ़ाया जाता है. जिसमे पुरे स्कूल की सफाई होती है. और हमारे स्कूल को सोशल सर्विस के लिए प्राइज भी मिलता है.
  • हमारे स्कूल में विंटर कैंप में बहार से टीचर आते है. हमारे स्कूल में रचनात्मक लेखन, बास्केटबॉल, फुटबॉल, हॉकी, और व्यक्तित्व विकास आदि।
  • हमारे स्कूल में विषयों की कक्षाओं के साथ साथ अतिरिक्त कक्षाएं भी लगती है. जिसमे कमजोर विद्यार्थी को पढ़ाया जाता है.
  • मुझे अपने स्कूल से बहुत प्यार है. में अपने स्कूल का बहुत आदर और सम्मान करती हूँ में भी अपने स्कूल का नाम रोशन करूंगी.

Building Structure Of My School Essay – मेरे स्कूल की इमारत संरचना

मेरे स्कूल का नाम राजा बलवंत सिंह इंटर कॉलेज है. मेरा स्कूल बहुत बड़ा, सुन्दर और आगरा में बना हुआ है. इस स्कूल में 3 मंजिल है और इसकी इमारत बहुत ही आकर्षक है. यह मेरे घर के पास से 5KM दूर है. में अपने स्कूल में साइकिल से जाता हूँ. यह स्कूल पूरी City में सबसे अच्छा और बहुत बड़ा है. मेरे स्कूल की वेबसाइट www.rbstmtc.in है.

मेरे स्कूल के चारों तरफ का पर्यावरण बहुत ही अच्छा है. इसके चारों तरफ पेड़ लगे हुए है. मेरे स्कूल में एक बहुत बड़ा पार्क है जिसमे सुन्दर सुन्दर फूल लगे हुए है. स्कूल में सबसे नीचे बेसमेंट में एक ऑडिटोरियम बना हुआ है. इस ऑडिटोरियम में वार्षिक कार्यक्रम और मीटिंग आदि सभी प्रोग्राम किये जाते है.

स्कूल में 2 मुख्य गेट है इसमें से एक गेट से अंदर और दूसरे गेट से बहार  होते है. हमारे स्कूल में पहली मंजिल पर बड़ा पुस्तकालय बना हुआ है जिसमें बहुत सारी अच्छी किताब रखी हुई है. इसी मंजिल पर एक विज्ञान की प्रोगशाला बनी है जिसमे students अपने नए नए प्रयोग करते है.

पहली मंजिल पर ही एक कंप्यूटर लैब भी व्यवस्थित करायी गयी है. स्कूल में nursery से 12th कक्षा के students और विज्ञान, वाणिज्य के विधार्थियों की कक्षायें भी अलग बनी हुई है.

Facility of My School Essay In Hindi – मेरे विद्यालय में सुविधाये

मेरे स्कूल में छात्रों के लिए पीने का ठंडा पानी और रेफ्रीजिरेटर का इंतजाम किया गया है. विद्यालय में toilet और washroom के भी अच्छी व्यवस्था की गयी है. हमारे अध्यापक सभी विद्यार्थियों के मार्क्स और उनकी हर छोटी- छोटी गतिविधि पर नजर रखते है.

हमारे स्कूल में अलग अलग कामों के लिए नौकर रखे गए है. रात के समय में स्कूल की देखभाल करने वाले peon के लिए स्कूल में ही room का arrangement किया गया है. हमारे स्कूल में एक खेल का मैदान है. जिसमे बच्चों के लिए झूले और cricket, basket ball code भी त्यार किया गया है.

हमारे स्कूल के सभी कक्षाओं में पंखे, लाइट्स, प्रोजेक्टर्स और कैमरा लगे हुए है. मेरे स्कूल में 6000 विद्यार्थी है जिसमे 3500 लड़के & 2500 लड़की है. इस स्कूल में महिला, पुरुष दोनों ही अध्यापक पढ़ाते है. दूर से आने वाले विद्यार्थियों और अध्यापकों के लिए स्कूल के तरफ से बस की सुविधा दी जाती है.

हमारे स्कूल में प्रधनाचार्य, हेड ऑफिस, डायरेक्टर रूम, कैंटीन, सेमिनार रूम, ऑडिटोरियम, फीस ऑफिस सभी अलग से बने हुए है. हमारे स्कूल के teacher students को बहुत ही अच्छी तरह से पढ़ाते है.

मेरे विद्यालय के कार्यक्रम और विभाग

मेरे स्कूल के संस्थापक राजा बलवंत सिंह जी है. मेरे स्कूल के निर्देशक का नाम डॉ. बी.बी.स. परिहार जी है. इस स्कूल केकोऑर्डिनेटर डॉ. के.के. गोयल है. हमारे  स्कूल में लगभग 95 अध्यापक है जो हमें पड़ते हैं.

हमारे विद्यालय के प्रबंधन को देखने के लिए सब मिलाकर 35 लोग है. जो की सभी अपना काम बड़ी निष्ठा और ईमानदारी के साथ करते है. फीस और students के exams को arrange करने के लिए 10 अध्यापक का स्टाफ अलग से रखा गया है.

हमारे स्कूल में कार्यक्रम होते रहते है जैसे 15th august, Children’s Day, Cultural Activates आदि. हम स्कूल में सभी programs में participate करते है. राजा बलवन्त स्कूल के कुछ important events शिक्षक दिवस, मातृ दिवस, बाल दिवस, वर्षगांठ दिवस, संस्थापक दिवस, गणतंत्र दिवस, स्वतंत्रता दिवस, क्रिसमस दिवस, वार्षिक उत्सव, नया साल, गांधी जयंती है.

मेरे स्कूल में हर सुभह सभी विद्यार्थी खेल के मैदान में इकट्ठा होते है और प्रार्थना करते है. इसके बाद सभी विद्यार्थी अपनी अपनी कक्षा में जाते है. इस स्कूल में सभी विषय जैसे गणित, अंग्रेजी, हिंदी, मराठी, जीके, इतिहास, भूगोल, विज्ञान, चित्रकला, खेल और शिल्प आदि के आध्यापक अलग अलग है.

स्कूल जाने का गर्मी का समय 7:30 to 2:30 Winter time 9:30 to 4:30 है. मेरे स्कूल के सभी अध्यापक और विद्यार्थी बहुत अच्छे है. मुझे इस बात का बहुत गर्व है की में राजा बलवंत सिंह इंटर कॉलेज का विद्यार्थी हूँ.

मेरा विद्यालय निबंध पर निष्कर्ष

मेरा प्रिय विधालय हमारे लिए एक मंदिर के समान है जहाँ ऋषि रूप में हमारे गुरु रहते है. और स्कूल रूपी मंदिर में हमारी विधा की देवी सरस्वती माता हमेशा विराजमान रहती है. विद्यालय से हम अज्ञान रुपी अंधकार को मिटाने लिए ज्ञान रुपी प्रकाश को सीखते और समझते है.

हमारा विधालय मेरे शहर का सबसे अच्छा स्कूल है. जहां पर सभी छात्र और गुरु एक परिवार की तरह रहकर शिक्षा ग्रहण करते है. मुझे ही नहीं बल्कि हमारे पूरे शरह को हमारे स्कूल पर बहुत गर्व है.

Note: My School Essay In Hindi में  आपके लिए याद रखने योग्य बात

छात्रों आपको यह याद रहे की आपको जो भी details लिखनी है वो आप अपने स्कूल की ही लिखेंगे. यह my school essay मेने अपने स्कूल को देखते हुए लिखा है. आप अपने स्कूल के देखते हुए लिखें.

संबंधित निबंध

प्रिय छात्रों, मैं आशा करता हूँ की आपको my school essay In Hindi – मेरे विद्यालय पर निबंध पढ़ कर अच्छा लगा होगा. अब आप भी my school essay लिख सकते है. यदि आपको इस My School Essay In Hindi से related कोई भी समस्या है तो आप हमें Comment करके पूछ सकते है.

Share This Post On

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *