Recent Post
 

Essay On My Favorite Game In Hindi – मेरा पसंदीदा खेल पर निबंध

Essay On My Favorite Game In Hindi - मेरा पसंदीदा खेल पर निबंध

Essay On My Favorite Game In Hindi. प्रिय छात्रो आज के इस निबंध में हम पढेगे की Essay On My Favorite  Game In Hindi यानि की मेरे पसंदीदा खेल पर निबंध के बारे में. खेल क्या है. और हमे खेल क्यों खेलना चाहिए और खेल को खलेने से हमे और हमारी बॉडी को क्या क्या फायदे होते है. और हम कोन कोन से खेल खेलने चाहिए और गेम्स को केसे खेलते है.

इस निबंध में हम पड़ेगे की मेरे पसंदीदा खेल की क्या परिभाषा है. और गेम हमे क्यों खेलने चाहिए और खेल कोन कोन खेल सकता है. और हमे इनडोर या आउट डोरे गेम खेलने चाहिए और इनडोर गेम कोनसे होते है, और आउट डोरे कोनसे गेम्स होते है. तो चलिए पड़ते है. की Essay On My Favorite Game In Hindi हम अपने पसंदीदा गेम के बारे में पढने वो भी अपनी मात्र भाषा हिंदी में.

Covering Topics – Essay On My Favorite Game In Hindi – मेरा पसंदीदा खेल पर निबंध

  • Essay On My Favorite Game 10 Line In Hindi – मेरा पसंदीदा खेल पर 10 लाइन का निबंध हिंदी में.
  • Essay On My Favorite Game 100 Words In Hindi – मेरा पसंदीदा खेल पर 100 शब्दों का निबंध हिंदी में.
  • Essay On My Favorite Game 200 Words In Hindi – मेरा पसंदीदा खेल पर 200 शब्दों का निबंध हिंदी में.
  • Essay On My Favorite Game 300 Words In Hindi – मेरा पसंदीदा खेल पर 300 शब्दों का निबंध हिंदी में.
  • Essay On My Favorite Game 400 Words In Hindi – मेरा पसंदीदा खेल पर 400 शब्दों का निबंध हिंदी में.
  • Essay On My Favorite Game 500 Words In Hindi – मेरा पसंदीदा खेल पर 500 शब्दों का निबंध हिंदी में.
  • Essay On My Favorite Game For The Competition – प्रतियोगिता के लिए मेरे पसंदीदा खेल पर निबंध हिंदी में.
  • जीवन में खेल कूद का महत्व.
  • खेलो के प्रकार.
  • खेल खेलने के लाभ.
  • खेलो में भारत का विश्व में स्थान

Essay On My Favorite Game 10 Line In Hindi – मेरा पसंदीदा खेल पर 10 लाइन का निबंध हिंदी में.

  • मेरा पसंदीदा खेल कब्बडी है। भारत देश में कब्बडी प्राचीन काल से खेले जाने वाला खेल है।
  • इस खेल में दो विपक्षी टीम बनाई जाती है जिसमे 7-7 खिलाडी होते है।
  • इस खेल में खिलाडी को बिना सास को तोड़े कब्बडी कब्बडी बोलते हुए मुह को बंद किये हुए जाना होता है. और विपक्षी टीम के खिलाडी को छूके आना होता है।
  • इस खेल में दो पाले बनाये जाते हैं। A और B के मध्य एक रेखा खिंची जाती है।
  • यदि खेल के बीच में किसी खिलाडी को चोट आये तो उसकी जगह दूसरा खिलाडी को टीम में ले लिया जा सकता है।
  • यह खेल सावधानी और बुद्धि और ताकत से खेले जाने वाला खेल है।
  • इस खेल की शुरुआत पंजाब से हुई लेकिन देखते ही देखते यह खेल भारत के साथ साथ पडोसी देशो में भी खेला जाता है।
  • यह खेल बांग्लादेश का प्रिय खेल माना जाता है।
  • इस खेल में महिलाएं भी भाग लेती है। 2012 में पंजाब में महिलाओ को पहला विश्व कप मिल चूका है।
  • अजय ठाकुर भारत की तरफ से कब्बडी के सबसे अच्छे खिलाडी हैं।

Essay On My Favorite Game 100 Words In Hindi – मेरा पसंदीदा खेल पर 100 शब्दों का निबंध हिंदी में

अगर आप मेरी तरह एक Student है. तो आप मेरी तरह भी खेल में रूचि जरुर रखते होगे जैसा में खेल में रूचि रखता ठीक उसी तरह आप भी जरुर रखते होगे. और खेल एक ऐसी चीज़ है. जिसे लड़का या लड़की दोनों खेलना जरुरी है. क्यों की अगर हम खेल नही खेलेगे तो हमारा दिमाग फ्रेश कैसे होगा.

और हमारे शरीर के लिए खेल खेलना बहुत जरुरी है. हमे कम से कम दिन में 2 या 3 घंटे जरुर खेल में बिताने चाहिए अगर आप नही खेलगे को आपका मन उदाश उदास सा रहेगे खेल खेलने से हमारी बॉडी में बहुत फायदा होता है.

जैसा की आप सब जानते है की हमारे भारत का खेल फुटबॉल है. जो की मुझे खेलना बहुत पसंद है. और में इसे समय समय पर खेलता हु और  ये खेल दो पक्षों के बीच में खेला जाता है. पूरी एक टीम में 11 खिलाडी होते है. जिस में से एक गोलकीपर होता है. और दो पूर्ण पीठ, तीन आधे पीठ और पांच आगे खेल की देखरेख करने के लिए एक रेफरी भी होता है.

Essay On My Favorite Game 200 Words In Hindi – मेरा पसंदीदा खेल पर 200 शब्दों का निबंध हिंदी में.

मेरा सबसे पसंदीदा खेल क्रिकेट है. यह घर के बहार पार्क में खेले जाने वाला खेल है.यह खेल दो टीमों के बीच खेला जाता है. प्रत्येक टीम में 11 खिलाडी होते है.क्रिकेट के बहुत से प्रकार होते है. जिन में से कुछ में आपको बताउगा जैसे – टेस्ट मैच, वन डे मैच और 20-20 टेस्ट मैच सबसे लम्बे समय तक खेले जाने वाला प्रकार का क्रिकेट है.

क्रिकेट का टेस्ट मैच रास्ट्रीय और अंतररास्ट्रीय दोनों टीमों के मैच खेला जाता है. इस खेल में हर जीत का फैसला, टीम द्वारा बनाये गए रन के आधार पर होता है. जो टीम ज्यादा रन बनाएगी वह टीम जीत जाएगी. जैसा की हम जानते है. ये टीमों के बीच खेला जाता है. पहली टीम बैटिंग करती है. तो दूसरी टीम फील्डिंग करती है.

जो टीम फील्डिंग करती है. उसी टीम के लोग बोलिंग भी करते है. और दूसरी तरफ बैट्समैन उस बोल पे रन बनाते है. इस खेल में एक एम्पायर होता है. जो खेल की निगरानी करता है. और खेल से सम्बंधित महत्वपूर्ण निर्णय लेता है. एम्पायर के निर्णय को दोनों टीमों को मन्ना पड़ता है.

इस खले में ओवर होते है. प्रत्येक ओवर में 6 बोल होती है. मैच कितने ओवर का होगा यह मैच के प्रकार के उपर निर्भर करता है.टेस्ट मैच के ओवर कभी कभी अलग भी हो सकते है. पर 20-20 में हमेशा 20 ओवर होते है. इस लिए इसका नाम 20-20 मैच रखा गया है.

Essay On My Favorite Game 300 Words In Hindi – मेरा पसंदीदा खेल पर 300 शब्दों का निबंध हिंदी में

प्रस्तावना

अगर आप स्टूडेंट या कोई जॉब करते है. तो आप लोगो ने बैडमिंटन गेम के बारे में तो जरुर सुना होगा और सायद अपने खेला भी होगा. जैसा मुझे अभी बैडमिंटन का सोक है. ठीक मेरी तरह आपको भी बचपन बैडमिंटन का सोक होगा.

बैडमिंटन एक ऐसा गेम है. जो हमारे भारत में ही नही बल्कि पूरी दुनिया में खेला जाता है. हांलाकि बहुत से लोग जानते है. खासकर क्योकि यह एक पंख कॉक से खेला जाता है. जिसे स्टीयरिंग व्हील कहा जाता है.

बैडमिंटन का इतिहास

अब हम बात करेगे की बैडमिंटन का क्या रहा है. बैडमिंटन आज के समय में जानते है. की ब्रिटिश लोगो के द्वारा उन्तीसवीं सदी में विकसित किया गया था. लेकिन कई सालो के लिए रेकेट और कलम के साथ खेलने का कार्य सबसे जादा यूरोप और एशिया में खेला जाता था.

कई देशो का एक समूह है. जैसे इंग्लैंड, कनाडा, डेनमार्क, आयरलैण्ड, वेल्स, स्कॉट्लैंड, न्युजीलैंड, इंटरनेशनल बैडमिंटन फेडरेशन में शामिल हो गए और, इस लिए इस खेल को बहुत जादा मजबूत और अधिक विनियमित बनाया गया था.

वर्तमान में बैडमिंटन एक पहले से ही प्रसिद्ध खेलो बहुत प्रणाली है. जिसका भारत, चीन इण्डोनेशिया, मलेशिया, या दक्षिण कोरिया, जैसे एशियाई देशो में वचर्स्व है. पुरुष और महिला.

बैडमिंटन खेलने के नियम

अब हम बैडमिंटन खेलने के नियम के बारे में पढेगे बैडमिंटन खेलने से पहले हम कोन कोन से नियम से बारे में पता होना बहुत जरुरी है. और बैडमिंटन के कितने नियम होते है. तो चलिए जानते है. की बैडमिंटन के नियम बैडमिंटन के नियम बहुत ही सरल होते है. और बैडमिंटन के कुछ जादा नियम नही होते है.

आइये अब जो कुछ अधिक नियम को जानते है बैडमिंटन के नियम कुछ इस प्रकार से.

सेवा:- सेवा हमेशा तिरछे करनी चाहिए . और अगर ऐसा नही किया जाता है. तो प्रतिदिंदी बिंदु जीतता है.

नेट पर चलायं:- यदि आप खलेते समय नेट को छुते है. और स्पर्श या शरीर या रेकेट के साथ पर्याप्त होता है. तो इसे गलत माना जाता है और प्रतिदिंदी बिंदु जीतता है.

गलत पक्ष परोसें:- जैसा कि कहा गया है, सेवा पक्ष आपके अंकों की संख्या पर निर्भर करता है। यदि आप इसे गलत तरीके से करते हैं, तो यह स्वचालित रूप से गलत है और प्रतिद्वंद्वी को इंगित करता है, अगर वह इस कदम का पालन नहीं करता है

Essay On My Favorite Game 400 Words In Hindi – मेरा पसंदीदा खेल पर 400 शब्दों का निबंध हिंदी में.

प्रस्तावना.

हॉकी मैदान में खेले जाने वाला खेल है. जिसे 11-11 खिलाडी को रखने वाली दो टीमों के द्वारा खेला जाता है. इसे भारत का रास्ट्रीय खेल इसलिए चुना गया है. क्योकि भारत हॉकी में कई सालो तक विश्व विजेता रहा था. हॉकी को आधिकारिक रूप से रास्ट्रीय खेल घोषित नही किया गया है. हालांकि इसे केवल भारत का रास्ट्रीय खेल माना जाता हिया. क्योकि भारत ने हॉकी में बहुत से स्वर्ण पदको को जीता है.

यह पुरे संसार में बहुत से देशो के द्वारा खेला जाता है.यह बहुत ही महंगा खले नही है और किसी भी युवा के द्वारा खेला जा सकता है. यह बहुत ही रूचि और आनंद का खेल है. जिसमे बहुत जादा गतिविधियों और अनिवित्तायें शामिल होती है. रफ़्तार का खेल है और परिस्थितियां बहुत शीघ् बदलती है जो आश्श्र्य पैदा करती है,

हॉकी खेंलने का नियम

अब हम जानेगे की हॉकी खेलने के क्या क्या नियम होते है. जिनका हमे पालन करना पड़ता है. हॉकी मैच में 35 या 40 मिनट के दो हाफ होते है.हॉकी की हर एक टीम में 11 खिलाडी होते है. 5 अतिरिक्त होते है. ओलंपिक में हॉकी की पूरी 12 टीमें होती है. उन्ही 12 टीमों में से 6-6 टीमों का ग्रुप बना दिया जाता है. और फिर एक ग्रुप की टीम बाकि टीमों से मैच खेलती है.

दोनों टीमों के ग्रुप में से दो टीम सेमीफाइनल में पहुचती है. और जो टीम हर जाती है. फिर वह टीम आपस में खेलती है. इसलिए खेलती है ताकि हर टीम 5 वे से 7 वे तक अपना नंबर प् सके इसी तरह सेमीफाइनल से टीम फाइनल में पहुचती है. और उन टीमों में से एक टीम गोल्ड मैडल जीत के ले जाती है.

हॉकी खेलने के लिए आवश्यक चीज़े

हमे हॉकी खेलने से पहले हमे उसी जरुर चीज़े जानना बहुत जरुरी है. की हॉकी खेलने से पहले हम क्या क्या पहनना होता है. अगर हॉकी को अछि तरह खेलने के लिए कुछ महत्वपूर्ण चीजों की जरुरत होती है. जिसके नाम कुछ इस तरह से है.

  • हेलमेट
  • हॉकी की छड़ी
  • हॉकी के लिए बोल
  • सुरक्षात्मक कप
  • कोहनी के पैड
  • घुटनों के पैड
  • कंधे के पैड
  • गर्दन गार्ड
  • नेक

ये मेने आपको सभी चीज़े खिलाडियों की सुरक्षा और उनकी रक्षा के लिए बनाये जाते है. इसलिए ताकि वह अपनी तरफ से पुरे सुरक्षित खेल को अछि तरह से खेल सके और कोई भी दिक्कत नही उठानी पड़े.

निर्ष्कर्ष:-

जैसा की आप जानते ही होगे की भारत का रास्ट्रीय खेल हॉकी है. ये केवल कहा जाता है. लेकिन आप ये नही जानते होगे की अभी तक भारत में इसको अधिकारिक तोर पर घोषणा की गयी है. लेकिन अब ये हमारे भारत के सभी नागरिको की जिम्मेदारी है.

हम हॉकी को वापिस लाये और इसे अधिकार रूप से भारत में घोषित करवाया जाये इसके लिए हमे अपने स्कूलों में जिस तरह और सब खेलो को महत्व दिया जाता है. ठीक उसी तरह हॉकी को उससे भी जादा महत्व दिया जाये और सब इसे घोषित कराए.

Essay On My Favorite Game 500 Words In Hindi – मेरा पसंदीदा खेल पर 500 शब्दों का निबंध हिंदी में.

प्रस्तावना.

मेरा पसंदीदा खेल कबड्डी है, और मुझे यह खेल खेलना बहुत पसंद है। मैं और मेरा दोस्त हर दिन हमारे घर के पास बने मैदान में कबड्डी खेलते हैं। हमारे स्कूल में भी हमारे खेल शिक्षक को कबड्डी खेलना सिखाया जाता है।

पिछले साल हमारी टीम ने कबड्डी मैच में स्वर्ण पदक जीता था। मेरा लक्ष्य भारत की तरफ से कबड्डी खेल में बड़े होकर एशियाई खेलों में खेलना है। मैं कबड्डी में सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी बनना चाहता हूं।

कबड्डी की फील्ड एंड टीम के बारे में

कबड्डी खेलने के लिए एक छोटे मैदान की आवश्यकता होती है, और दो कबड्डी टीमों की आवश्यकता होती है। कबड्डी टीम में 12 खिलाड़ी होते हैं, लेकिन केवल सात खिलाड़ी खेलते हैं, और अन्य खिलाड़ी इतने हैं कि यदि एक खिलाड़ी को चोट लगी है, तो दूसरा खिलाड़ी उसकी जगह खेल सकता है। कबड्डी में प्रत्येक टीम में 7-7 खिलाड़ी होते हैं।

कबड्डी के मैदान के बीच में, सफेद रंग की एक रेखा खींची जाती है जो दोनों टीमों के ट्रंक को इंगित करती है। खेल खेलने से पहले, सभी खेल एक सिक्का उछाल की तरह उछाले जाते हैं, विजेता टीम पहले खेलती है। कबड्डी खेलने के लिए शरीर में ऊर्जा और फुर्ती की आवश्यकता होती है।

कबड्डी खेलने का तरीका

इस गेम में, एक टीम का एक खिलाड़ी कबड्डी शब्द को बार-बार (किसी शब्द या वाक्यांश को कहने के लिए) कबड्डी शब्द से विरोधी टीम की कबड्डी में जाता है, और वह टीम के विरोधियों को छूता है और अपने पक्ष में आने की कोशिश करता है। यदि वह इसमें सफल होता है, तो उसकी टीम को 1 अंक मिलता है, और यदि वह ऐसा नहीं कर पाता है, तो विरोधी टीम को 1 अंक मिलता है।

यह जितना आसान लगता है गेम खेलना उतना ही मुश्किल है। इस खेल को खेलने से हमारे शरीर में रक्त संचार बढ़ता है, और हमारा स्वास्थ्य भी अच्छा रहता है। यह खेल हमें अनुशासन में रहना सिखाता है। इस खेल को खेलने से भाईचारे की भावना पैदा होती है, शायद इसीलिए यह खेल भारत में प्राचीन काल से खेला जाता रहा है। कबड्डी को हमारे देश में अलग-अलग नामों से जाना जाता है, जैसे दक्षिण भारत में “चादुगुडु” और पूर्वी भारत में “हू तू तू”।

कबड्डी का इतिहास.

कबड्डी खेल मुख्य रूप से भारत और इसके आसपास के देशों में खेला जाता है, लेकिन जब से कबड्डी को एशियाई खेलों में रखा गया है, यह खेल जापान और कोरिया जैसे देशों में खेलना शुरू हो गया है।

कबड्डी खेल भारत में उतना ही प्रसिद्ध है; यह नेपाल, बांग्लादेश, पाकिस्तान, श्रीलंका आदि में बहुत प्रसिद्ध खेल है। कबड्डी खेल बांग्लादेश का राष्ट्रीय खेल है। लेकिन ऐसा माना जाता है कि कबड्डी के खेल की उत्पत्ति भारत से ही हुई है।

निर्ष्कर्ष:-

कबड्डी का खेल टीमों में काम करने के लिए रणनीति, ताकत और कौशल विकसित करने में मदद करता है। इससे खिलाड़ियों में आत्मविश्वास, एकाग्रता और सहनशीलता भी विकसित होती है। यह खेल समान खिलाड़ियों के बीच स्वस्थ प्रतियोगिताओं का अवसर प्रदान करता है और उन्हें दोस्त बनाने में मदद करता है।

Essay On My Favorite Game For The Competition – प्रतियोगिता के लिए मेरे पसंदीदा खेल पर निबंध हिंदी में.

यदि हम कुछ पलों के लिए इतिहास की ओर देखें या किसी सफल व्यक्ति के जीवन पर प्रकाश डालें तो हम देखते हैं कि, नाम, प्रसिद्धी और धन आसानी से नहीं आते हैं। इसके लिए लगन, नियमितता, धैर्य, और सबसे अधिक महत्वपूर्ण कुछ शारीरिक क्रियाओं अर्थात् स्वस्थ जीवन और सफलता के लिए एक व्यक्ति को शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य की आवश्यकता होती है।

नियमित शारीरिक गतिविधियों में शामिल होने के लिए खेल सबसे अच्छा तरीका है। किसी भी व्यक्ति की सफलता मानसिक और शारीरिक ऊर्जा पर निर्भर करती है। इतिहास बताता है कि, केवल वर्चस्व (प्रसिद्धी) ही राष्ट्र या व्यक्ति पर शासन करने की शक्ति है।

जीवन में खेल कूद का महत्व.

शारीरिक गतिविधियों में शामिल होने के लिए खेल सबसे अच्छा तरीका है, जो बहुत लाभदायक है। बहुत से देशों में खेलों को बहुत अधिक महत्व दिया जाता है, क्योंकि वे एक व्यक्ति के जीवन में खेल के वास्तविक लाभ और व्यक्तिगत व पेशेवर जीवन में इसकी आवश्यकता को जानते हैं। किसी धावक या पेशेवर खिलाड़ी के लिए शारीरिक गतिविधियाँ बहुत महत्वपूर्ण होती हैं।

यह उनके और उनके जीवन के लिए बहुत मायने रखती है। खेल खिलाड़ियों के लिए राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर बहुत अच्छा अवसर रखता है। कुछ देशों में, कुछ अवसरों कार्यक्रमों और त्योहारों के आयोजन पर स्पोर्ट्स और खेल गतिविधियाँ आयोजित की जाती हैं, उदाहरण के लिए; प्राचीन यूनान के ओलम्पियाड को सम्मान प्रदर्शित करने के लिए ओलम्पिक खेलों का आयोजन किया जाता है।

खेलो के प्रकार.

वेसे खेल कई प्रकार के होते है. लेकिन खेलो को दो हिस्सों में बाँटे गये है. पहला इन्डोर गेम और दूसरा आउटडोर गेम।  इनडोर गेम बो गेम होते है जिन्हें हम घर में खेल सकते है. जैसे- ताश, लूडो, केरम, आदि ये गेम Entertainment के साथ साथ वोधिक विकास में सयता करते है. और आउटडोर गेम बो गेम होते है. जिन्हें हम घर में नही खेल सकते और आउट डोर को हम पार्क या किसी मैदान में ही खेल सकते है.

आउट डोर गेम कुछ इस प्रकार होते है. जैसे- क्रिकेट, फुटबॉल,बैडमिंटन, और हॉकी, टेनिस, बोलिबोल, अदि ये गेम हमारे शरीर के लिए लाभकारी है.इन दोनों खेलो में बस इतना अंतर है. की आउटडोर गेम्स के लिए एक बड़े पार्क या मैदान की जरुरत होती है.

यह सारे खेल हमारी बॉडी की फिटनेस  और तंदुरस्त बनाये रखने के लिए बहुत महत्वपूर्ण गेम है. लेकिन जबकि इनडोर में हमे न किसी पार्क की न किसी मैदान की जरुरत होती है. इन गेम्स को हम अपने घर के आंगन या रूम में ही खेल सकते है.

इनडोर गेम्स :- ताश, लूडो, केरम, शापसीडी, चेस.

आउटडोर गेम्स :– क्रिकेट, हॉकी, टेनिस, फुटबॉल, बैडमिंटन.

खेल खेलने के लाभ.

खेल और स्पोर्ट्स हमारे लिए बहुत ही लाभदायक हैं क्योंकि वे हमें समयबद्धता, धैर्य, अनुशासन, समूह में कार्य करना और लगन सिखाते हैं। खेलना हमें, आत्मविश्वास के स्तर का निर्माण करना और सुधार करना सिखाता है। यदि हम खेल का नियमित अभ्यास करें, तो हम अधिक सक्रिय और स्वस्थ रह सकते हैं। खेल गतिविधियों में शामिल होना, हमें बहुत से रोगों से सुरक्षित करने में मदद करता है.

जैसे – गठिया, मोटापा, हृदय की समस्याओं, मधुमेह, आदि। यह हमें जीवन में अधिक अनुशासित, धैर्यवान, समयबद्ध और विनम्र बनाता है। यह हमें जीवन में सभी कमजोरियों को हटाकर आगे बढ़ना सिखाता है। यह हमें बहादुर बनाता है, और चिड़चिड़ेपन व गुस्से को हटाकर खुशी का अहसास देता है। यह हमें शारीरिक रुप से तंदरुस्त और मानसिक आराम प्रदान करता है, जिससे कि हम सभी समस्याओं से आसानी से निपट सकें।

अन्य निबंध पढ़ें

प्रिय छात्रों, मैं आशा करती हूँ की आपको मेरा पसंदीदा खेल पर निबंध – Essay On My Favorite Game In Hindi में को पढ़कर अच्छा लगा होगा. अब आप भी Essay On My Favorite Game In Hindi के बारे में लिख सकते है और लोगो को Essay On My Favorite Game In Hindi के बारे में समझा सकते है. यदि आपको इस निबंध से related कोई भी समस्या है तो आप हमें comment करके पूछ सकते.

Share This Post On

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *