Recent Post
 

Biography On William Shakespeare In Hindi – विलियम शेक्सपियर का जीवन परिचय

Biography On William Shakespeare In Hindi - विलियम शेक्सपियर का जीवन परिचय

Biography On William Shakespeare In Hindi. मेरे प्रिय दोस्तों, आज की इस जीवनी में हम बात करेंगे Biography On William Shakespeare In Hindi यानि कि विलियम शेक्सपियर की जीवनी के बारे मैं। और पढ़ेंगे विलियम शेक्सपियर कौन थे। विलियम शेक्सपियर ने कितने महान कार्य किये। विलियम शेक्सपियर का जन्म कब और कहाँ हुआ था। उन्होंने पडने के लिए किस तरह मेहनत की और दुनिया के महान व्यक्तियों में अपना नाम अंकित कराया।

विलियम शेक्सपियर के जीवन परिचय यानि कि Biography On William Shakespeare In Hindi में हम उनके व्यक्तित्व और उनके जीवन के बारे में पढ़ेंगे। अगर आप लोग विलियम शेक्सपियर के बारे मे जानना चाहते है तो आप जीवनी को अंत तक पढ़ते रहे वो अपनी मातृ भाषा में।

Biography On William Shakespeare In Hindi – विलियम शेक्सपियर का जीवन परिचय

विलियम शेक्सपियर के पूरे जीवन को निम्न बिन्दुओं में दर्शाया गया है। 

  • विलियम शेक्सपियर कौन थे और उनका जन्म कब और कहां हुआ ?
  • विलियम शेक्सपियर का जीवन परिचय – Biography On William Shakespeare In Hindi
  • शेक्सपियर जी का प्रारंभिक जीवन 
  • विलियम शेक्सपियर का निजी जीवन 
  • विलियम शेक्सपियर के विचार
  • विलियम शेक्सपियर जी का कार्य और उनका अंदाज
  • शेक्सपियर की प्रमुख रचनाएँ 
  • विलियम शेक्सपियर का परिवार 
  • विलियम शेक्सपियर का बचपन और शिक्षा
  • विलियम शेक्सपियर का साहित्यिक योगदान
  • सम्मान और पुरस्कार 
  • विलियम शेक्सपियर के बारे में कुछ रोचक तथ्य 
  • शेक्सपियर के जीवन से जुडी दिलचस्प बातें 
  • विलियम शेक्सपियर के कुछ अनमोल वचन
  • विलियम शेक्सपियर का संक्षिप्त जीवन परिचय – Biography On William Shakespeare In Hindi 
  • विलियम शेक्सपियर की मृत्यु

प्रेम सम्बंधित नाटक और कविता लिखने वाले प्रेम के लिए बोलने वाली कवी विलियम शेक्सपीयर इंग्लिश कवी, नाटककार और अभिनेता थे जो इंग्लिश भाषा के महत्वपूर्ण और प्रसिद्ध लेखको में से एक थे। उन्हें इंग्लैंड का राष्ट्रिय कवी और “बार्ड ऑफ़ एवन” भी कहा जाता है। 

इन्होने अपने लिखे हुए सभी कविताओं और साहित्य में से सबसे अधिक प्रेम के बारे में ही लिखा है इसलिए इन्हे प्रेमी कवी भी कहा जाता है। विलियम शेक्सपियर 16वीं शताब्दी के एक बहुत ही महान कवी थे जिनकी रचनाएँ उनके देश में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में प्रशिद्ध थीं। शेक्सपियर जी काव्य के विद्वान थे इंग्लैंड में उन्हें काव्य का भगवान भी कहा जाता है। 

विलियम शेक्सपियर कौन थे और उनका जन्म कब और कहां हुआ ?

विलियम शेक्सपियर, 16 वीं शताब्दी के विश्व के मशहूर अंग्रेजी कवि, नाटककार, लेखक और अभिनेता थे। आज के समय में इनके बारे में हर व्यक्ति ने सुना ही होगा। ये अंग्रेजी भाषा के सबसे महान काव्यकार थे। कुछ लोग इन्हे इनके उपनाम बार्ड ऑफ़ एवन के नाम से भी जानते है। 

विलियम शेक्सपियर को इंग्लैंड का राष्ट्रीय कवी भी कहा जाता है। इन्होंने अपने पूरे जीवन काल में 38 नाटक, 154 लघुकाव्य, 2 लंबी कथाऐ और कुछ कविताये तथा कुछ अन्य छंद के बारे में लिखा। इन्होने लगभग 2000 से 3000 अंग्रेजी शब्दों को उत्पान्न किया। लोगो का मानना है विना विलियम शेक्सपियर के साहित्य ऐसा है जैसे बिना पानी के मछली होती है। 

विलियम शेक्सपियर के जन्म और शिक्षा का कोई पुराना रिकॉर्ड नहीं है। अगर इंग्लैंड के एक पुराने चर्च रिकॉर्ड की बात माने तो उनका जन्म 26 अप्रैल, 1564 को स्ट्रैटफ़ोर्ड-ऑन-एवन में पवित्र ट्रिनिटी चर्च में एक विलियम शेक्सपियर को बपतिस्मा दिया गया था। और उस रिकॉर्ड में उनका जन्म 23 अप्रैल 1564 लिखा हुआ है। कई विद्वान् और साहित्यकार इसी स्थान और तारीख को उनका जन्म मानते है। 

विलियम शेक्सपियर का परिवार तथा उनका व्यक्तिगत जीवन

विलियम शेक्सपियर का परिवार भी सभी की आम लोगों की तरह था उनके पिता का नाम जॉन शेक्सपियर था वे एक चमड़े के व्यापारी थे। उनकी माता का नाम मेरी आर्डन था वह अपनी माता पिता की तीसरी संतान थे। शेक्सपियर से बड़ी उनकी दो बहने भी थीं जिनका नाम जोन और जुडिथ था। 

शेक्सपियर के तीन छोटे भाई भी थे जिनका नाम  गिल्बर्ट, रिचर्ड और एडमंड था। इनके पिता इंग्लैंड के एक सफल चमड़ा व्यापारी थे। इनकी पत्नी का नाम ऐनी हथावे था। 28 नवंबर, 1582 को कैंटरबरी प्रांत के वॉर्सेस्टर में शादी की। इनके तीन बच्चे थे जिनका नाम सुसंना हॉल, हम्नेट शेक्सपियर, जूडिथ क़ुइनी था। 

विलियम शेक्सपियर का बचपन और शिक्षा – शेक्सपियर जी का प्रारंभिक जीवन

अगर हम इंग्लैंड के रिकार्ड्स की बात माने तो उनकी शिक्षा कोई रिकॉर्ड नहीं है। और हमें उनके बचपन के बारे में कुछ भी रिकॉर्ड मिला है। परन्तु कुछ विद्वानों का कहना है की बालक विलियम शेक्सपियर बचपन मैं किंग्स न्यू स्कूल, स्ट्रैटफ़ोर्ड में पढ़ते थे। जिसमे पढ़ने लिखने के साथ साथ क्लासिकल और नाटक म्यूजिक नृत्य आदि सिखाया जाता था। 

उनके पिता के व्यापारी होने कारण उनका पढ़ा लिखा होना लाजमी है क्योंकि वो एक अच्छे अमीर आदमी के बेटे थे। लेकिन उनकी शिक्षा के बारे में अनिश्चितता ने कुछ लोगों को कोई सबूत नहीं मिले है। फिर लोग उनके काम और नाटकों तथा साहित्यों को पढ़कर उनके पढ़े लिखे होने अंदाजा लगाते है। यह माना जाता है कि आर्थिक रूप से अपने पिता की मदद करने के लिए उन्होंने अपनी पढ़ाई लगभग 13 साल की उम्र में छोड़ दी थी। इस तरह इनका शुरूआती जीवन व्यतीत हुआ था। 

विलियम शेक्सपियर का जीवन परिचय – Biography On William Shakespeare In Hindi

विलियम शेक्सपियर ने 1585-1592 के समय में लंदन में एक अभिनेता, लेखक और एक नाटक कंपनी लॉर्ड चेम्बर्लेन मेन के सह-मालक बनकर अपने करियर की शुरुवात की शेक्सपीयर ने बहुत सा काम 1589 से 1613 के समय में ही किया है। शुरुआत में उनके द्वारा लिखे गए लेख और नाटक प्रेम और कॉमेडी से सम्बंधित होते थे।

शेक्सपियर ने 1608 तक  दुखांत नाटक लिखे, जिनमे हैमलेट, ऑथेलो, किंग लेअर और मैकबेथ भी शामिल है यह नाटक उनके सबसे प्रसिद्ध नाटकों में थे। अपने अंतिम समय में उन्होंने दुःख सुखान्तक नाटको का लेखन किया था। 

उन्होंने सबसे अधिक रोमांचक नाटकों और काव्यों को लिखा है। 1623 में शेक्सपीयर के दो दोस्त और अनुयायी अभिनेता जॉन हेमिंगस और हेनरी कंडेल ने मिलकर उनके मरणोपरांत फर्स्ट फोलियो को प्रकाशित किया था। 20 और 21वीं शदी के लेखक और कवियों ने उनके नाटकों को अपनी अपनी मातृ भाषा में लिखकर प्रकाशित किया।

उनके जीवनकाल के अंतिम नाटकों में पारिवारिक जीवनदर्शन का वर्णन भी मिलता है। उन्होंने अपने जीवन में हर तरह का अनुभव प्राप्त किया और उनके अनुभव की झलक उनकी कृतियों में दिखाई पड़ती है।  उन्होंने अपने सुखांत नाटकों में कल्पनाविलास है और कवि का मन ऐश्वर्य और यौवन की विलासितामें रमा है।

उन्होंने अपने जीवन में बहुत अच्छी रचनाएँ लिखी जिनमे सी यह प्रमुख है हेलमेट, रोमियों जूलियट, द कॉमेडी ऑफ एरर्स, लवस लबौरस लॉस्ट, बाहरवीं रत, मैकबेथ, दा टू नोबेल किंस्मेन, कैम्बेलाइन, किंग लियर यह रचनाये उनकी सबसे प्रसिद्ध रचनाओं में से थीं। 

सम्मान और पुरस्कार

हम विलियम शेक्सपियर को तो सदैव सम्मान देते है परन्तु उनके रिकॉर्ड के हिसाब से उन्हें अपने जीवन काल में पुरस्कार नहीं दिया गया था। फिर भी उन्हें 19वी सदी में विलियम शेक्सपियर के जन्म स्थान के रूप में स्ट्रेटफोर्ड को तीर्थ का दर्जा दिया गया। जिस घर में उनका जन्म हुआ था, उसे सन 1847 में राष्ट्रीय स्मारक का दर्जा प्रदान किया गया। 1932 में रॉयल शेक्स्पियर थियेटर का निर्माण किया गया और सन 1964 में शेक्सपियर सेंटर की स्थापना की गयी।

विलियम शेक्सपियर का साहित्यिक योगदान William Shakespeare Biography In Hindi

विलियम शेक्सपियर द्वारा लिखे और किये गए नाटकों को आज विश्व के मंच पर कई पर दोहराया गया। उनके नाटकों को लेखकों ने अपनी अपनी भाषा में रूपांतरत कर पब्लिश किया है। उनके द्वारा लिखे गए कई नाटकों पर तो हमारे बॉलीबुड में फिल्में भी बनाई जा चुकीं है। हैमलेट पर बॉलीवुड में हैदर मूवी, ऑथेलो पर ओमकारा और मैकबेथ पर मकबूल जैसी फिल्में बन चुकी है। उनके द्वारा लिखा नाटक किंग लेयर भी किसी महान नाटक से कम नही है। 

शेक्सपियर के महानतम नाटक “रोमियो जूलियट” का मंचन विश्व मे सर्वोधिक बार हुआ है। यह नाटक विश्व प्रसिद्ध नाटकों में आता है और आज भी इस नाटक को स्कूल, कॉलेजेस के फंक्शन्स मैं परफॉर्म किया जाता है। इस पर हॉलीवुड में रोमियो जूलियट मूवी भी बन चुकी है। 

रोमियो जूलियट के नाटक को सर्वकालिक महान रोमांस नाटक माना जाता है। उनका एक सर्वप्रसिद्ध हास्य नाटक “कॉमेडी ऑफ एरर” पर भी बॉलीबुड में अंगूर के नाम से फिल्म बन चुकी। सबसे खाश बात तो यह है की वह अपने नाटकों में खुद ही अभिनय करते थे। 

विलियम शेक्सपियर के बारे में कुछ रोचक तथ्य

  • विलियम शेक्सपियर का जन्म 23 अप्रैल 1564 को हुआ था और 23 अप्रैल सन 1616 को उनकी मृत्यु हो गयी थी। उनके जन्म और मृत्यु की तारीख एक ही थी।
  • शेक्सपियर की पत्नी का नाम ऐनी हथावे थी उन्होंने यह शादी ऐनी हथावे के गर्वधारण के बाद की थी। शादी के समय ऐनी हथावे 3 महीने की गर्ववती थी।
  • मृत्यु से पहले शेक्सपियर बहुत अमीर वयक्ति थे।
  • विलियम शेक्सपियर ने अपने पूरे जीवन काल में 37 नाटक और 154 काव्य की रचना की।
  • शेक्सपियर पहले और एकलौते ऐसे नाटककार थे जिन्होंने अपने नाटक लिखे और खुद ही उनमे एक्टिंग की।
  • इंटरनेट पर 16 करोड़ से भी ज्यादा ऐसी वेबसाइट है जिनमे विलियम शेक्सपियर के बारे में लिखा हुआ।
  • शेक्सपियर के समय में औरतों और लड़ियों को थिएटर में जाना या काम करना मना था। और यह उन दिनों कानूनी अपराध होता था।
  • विलियम शेक्सपियर का सबसे छोटा नाटक “the comedy of errors” है और सबसे बड़ा नाटक “हेलमेट” है। 
  • “Uranas” गृह के सभी उपग्रहों के नाम शेक्सपियर के नाटक के पात्रों के नाम पर रखे गए है। 

शेक्सपियर के जीवन से जुडी दिलचस्प बातें

  • विलियम शेक्सपियर ने बहुत ही काम शब्दों और समय में अपनी दुनिया रची थी।
  • दुनिया के सबसे महान नाटक शेक्सपियर जी ने ही लिखे उन्होंने एक से बढ़कर एक नाटक लिखा है।
  • अभिनेता और काव्य तथा नाटकों के रचयता भी थे।
  • उनके कई नाटक असल जीवन और सच्‍ची घटनाओं पर बेस्ड है।
  • शेक्सपियर ने कॉमेडी, ट्रेजडी के अलावा हिस्‍ट्री जॉनर तीन तरह के नाटक लिखे थे। 
  • उन्‍होंने अंग्रेजी भाषा को 1,700 से 3,000 शब्‍द दिए। उन्‍होंने कई सारे वाक्‍यांश और मुहावरे भी चलन में ला दिए।
  • अपना नाम ठीक से नहीं लिखते थे शेक्‍सपियर वह अक्सर हर जगह अपना नाम अलग अलग तरह से लिखते थे। 
  • नकी पत्नी शादी से पहले ही गर्भवती थी। 

विलियम शेक्सपियर के कुछ अनमोल वचन

  • सबसे प्यार करो, कुछ पर भरोसा करो, किसी का भी बुरा मत करो।
  • सच्चे प्यार का रास्ता कभी आसान नहीं होता।
  • नर्क खाली है और सभी शैतान यहाँ हैं।
  • इस तरह एक किस के साथ मैं मरता हूँ।
  • हम जानते है कि हम क्या हैं लेकिन ये नहीं जानते कि क्या हो सकते हैं।
  • अपना प्यार किसी ऐसे पर बर्बाद मत करों, जिसे इसकी कद्र नहीं।
  • ख़ुशी और हँसी के साथ पुरानी झुर्रियां भी आतीं हैं।
  • प्यार, आँखों के साथ नहीं बल्कि मन के साथ देखा जाता हैं और इसलिए पंखों का लोभ करने वालों को अँधा चित्रित किया गया है।
  • कुछ भी अच्छा या बुरा नहीं होता, हमारे विचार ही उन्हें अच्छा या बुरा बनाते हैं।
  • कायर मृत्यु से पहले कई बार मरते हैं;  शूरवीर सिर्फ एक बार।
  • चन्द्रमा की कसम मत खाओ क्यूंकि हो हमेशा बदलता रहता है, क्यूंकि तुम्हारा प्रेम भी फिर बदल जायेगा।
  • मुझे यह स्थान पसंद है, और ख़ुशी इस पर मेरा समय बर्बाद कर सकती है।
  • अपनी वाणी पर जरा ध्यान दीजिये, नहीं तो ये एक दिन आपको ले डूबेगी।
  • अगर तुम प्रेम करते हो और तुम्हे कष्ट मिलता है, तो और प्रेम करो। अगर तुम और प्रेम करते हो और तुम्हे ज्यादा कष्ट मिलने लगता है तो और भी ज्यादा प्रेम करो। अगर तुम और भी ज्यादा प्रेम करते हो और फिर भी तुम्हे कष्ट मिलता है तो तबतक प्रेम करते रहो जबतक की कष्ट मिलना बंद न हो जाये।
  • पढने के विरुद्ध तर्क देने के लिए वह कितने अच्छे से पढ़ा हुआ है।

विलियम शेक्सपियर की मृत्यु

विलियम शेक्सपियर जी लन्दन की मशहूर और बड़ी बड़ी नाटक कम्पनियों के साथ काम करके और अपने साहित्य तथा काव्य के लेखन से उन्होंने बहुत पेशा कमाया और बहुत अमीर भी हो गए थे। उन्होंने अपनी कमाई का ज़्यदातर हिस्सा स्ट्रैटफोर्ड के रियल एस्टेट में निवेश कर दिया था। विलियम शेक्सपीयार ने अपने अंतिम नाटक The Two Noble Kinsmen को अपने दोस्त John Fletcher के सहयोग से 1613 में पुरा किया। 

1613 में उन्होंने स्ट्रेटफोर्ड से रिटायरमेंट लिया और अपने जन्मदिन के 3 दिन पहले 23 अप्रैल सन 1616 में मृत्यु हो गई। उनकी कब्र की शिला पर स्मृति लेख लिखा था कि ‘गुड फ्रेंड, फॉर जीसस’. ऐसे धनी आदमी के लिए इन पत्थरों की जरुरत नहीं पड़ती। 

विलियम शेक्सपियर की याद में दुनिया भर में सारी मूर्तियाँ, स्मारकें स्थापित किये गये, पार्क बनाये गए है जोकि इस प्रसिद्ध महान कवि और नाटककार के काम की महिमा के वर्णन लिए एक प्रशंसापत्र के रूप में बनाये गए है। आज बहुत सारे कवी और नाटककार उनसे सीख लेते है और उनके बताये हुए पद चिन्हों पर चलते है। 

शेक्सपियर की कल्पना जितनी प्रखर थी उतना ही गंभीर उनके जीवन का अनुभव भी था। उनके नाटकों तथा उनकी कविताओं से हमें उनके प्रेम और आनंद का अनुभव होता है और उनकी रचनाओं से हमको जीवन जीने का मार्गदर्शन भी मिलता है। विश्वसाहित्य के इतिहास में शेक्सपियर जी के श्रेणी मैं रखे जाने वाले कवि अब शायद ही मिलते हैं।

विलियम शेक्सपियर का संक्षिप्त जीवन परिचय – Biography On William Shakespeare In Hindi

क्रम संख्या जीवन परिचय बिंदु जीवन परिचय
1 नाम  विलियम शेक्सपियर
2 जन्म  26 अप्रैल 1564 ( इंग्लैंड के स्ट्रेटफोर्ड – अपॉन – एवन )
3 मृत्यु  23 अप्रैल 1616
4 पिता का नाम जॉन शेक्सपियर
5 माता का नाम  मैरी शेक्सपियर
6 राष्ट्रीयता, धर्म    ब्रिटिश,क्रिश्चन 
7 जन्म स्थान नाटककार, अभिनेता लेखक 
8 पत्नी ऐनी हथावे
9 भाई बहन  एडमंड शेक्सपियर, जोआन शेक्सपियर, गिल्बर्ट शेक्सपियर,  मार्गरेट शेक्सपियर, ऐनी शेक्सपियर, रिचार्ड शेक्सपियरसारा (बहन), थॉमस(भाई )
10 प्रमुख रचनाये   हेलमेट (1603 )
11 बच्चे   सुसंना हॉल, हम्नेट शेक्सपियर, जूडिथ क़ुइनी.
12 प्रसिद्धी सबसे महान लेखक ( विश्व प्रसिद्ध लेखक)

सम्बंधित जीवन परिचय

प्रिय छात्रों, मैं आशा करती हूँ की आपको Biography On William Shakespeare In Hindi – विलियम शेक्सपियर का जीवन परिचय को पढ़कर अच्छा लगा होगा. अब आप भी Biography On William Shakespeare In Hindi  के बारे में लिख सकते है और लोगो को समझा सकते है. यदि आपको इस Biography On William Shakespeare In Hindi  से related कोई भी समस्या है तो आप हमें comment करके पूछ सकते है.

Share This Post On

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *