Recent Post
 

Bal Gangadhar Tilak Quotes In Hindi – बाल गंगाधर तिलक के अनमोल विचार

Bal Gangadhar Tilak Quotes In Hindi - बाल गंगाधर तिलक के अनमोल विचार hindividhya.com

Bal Gangadhar Tilak Quotes In Hindi – बाल गंगाधर तिलक के अनमोल विचार. मेरे प्रिय दोस्तों आज की इस पोस्ट में हम पड़ेगे Bal Gangadhar Tilak Quotes In Hindi यानि की बाल गंगाधर तिलक के अनमोल विचार के बारे में। बाल गंगाधर तिलक ने अपने जीवन में बहुत ही अच्छी बातें लिखी जिसे पढ़कर लोग मोटिवेट होते है।

दोस्तों मुझे बाल गंगाधर तिलक के बारे में पढ़ना बहुत ही अच्छा लगता है। मेरी तरह दुनिया में बहुत सारे लोग है जो बाल गंगाधर तिलक के बारे में पढ़ना और सुनना पसंद करते है। और तो और कुछ लोग उन्हें अपना रोल मॉडल मानते हुए देश सेवा करते है।

बाल गंगाधर तिलक भारत के महान स्वतंत्रता सेनानियों में से एक हैं जिन्होंने भारत को आजादी दिलाने के लिए अपने प्राण तक न्यौछावर कर दिए। तिलक जी का पूरा नाम लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक है।

तिलक जी ने “स्वराज हमारा जन्म सिद्ध अधिकार है और मैं इसे लेकर ही रहूंगा” का नारा दिया था।इस एक विचार ने भारत के सभी लोगों के मन की धारा को बदल कर आजादी की लड़ाई के लिए उत्साहित कर दिया।

इसी तरह के उनके द्वारा लिखे गए बहुत सारे अनमोल विचार है जिन्हे पढ़कर हम मोटीवेट होते है और उनसे बहुत सीख लेते है। आइए जानते हैं बाल गंगाधर तिलक के प्रेरणा देने वाले अनमोल विचारों को बस पढ़ते रहिए हमारी पोस्ट Bal Gangadhar Tilak Quotes In Hindi – बाल गंगाधर तिलक के अनमोल विचार को.

Bal Gangadhar Tilak Quotes In Hindi – बाल गंगाधर तिलक के अनमोल विचार

स्वराज मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है और मैं इसे लेकर

स्वराज मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है और मैं इसे लेकर रहूँगा। अर्थार्थ भारत देश मेरा है और मेरे जन्म से ही इस पर मेरा अधिकार है और में इसे आजाद कराकर लेकर ही रहूँगा।

आलसी व्यक्तियों के लिए भगवान अवतार नहीं लेते, वह मेहनती व्यक्तियों के लिए ही अवतरित होते हैं, इसलिए कार्य करना आरम्भ करें। इसका मतलब यह है कि जो व्यक्ति आलसी होते है उनकी मदद करने के लिए तो भगवान् भी नहीं आते है भगवान् सिर्फ मेहनती व्यक्तियों के लिए ही अवतार लेते है इसलिए अपना कार्य करना आरम्भ करो।

मानव स्वभाव ही ऐसा है कि हम बिना उत्सवों

मानव स्वभाव ही ऐसा है कि हम बिना उत्सवों के नहीं रह सकते, उत्सव प्रिय होना मानव स्वभाव है। हमारे त्यौहार होने ही चाहिए।

आप मुश्किल समय में खतरों और असफलताओं के डर से बचने का प्रयास मत कीजिये। वे तो निश्चित रूप से आपके मार्ग में आयेंगे ही।

प्रातः काल में उदय होने के लिए ही सूरज संध्या काल के अंधकार में डूब जाता है और अंधकार में जाए बिना प्रकाश प्राप्त नहीं हो सकता।

गर्म हवा के झोंकों में जाए बिना, कष्ट उठाये बिना,पैरों मे छाले पड़े बिना स्वतन्त्रता नहीं मिल सकती। बिना कष्ट के कुछ नहीं मिलता।

यदि भगवान छुआछूत को मानते हैं, तो मैं उन्हें भगवान नहीं कहूँगा। यहां पर उनका कहना है की अगर भगवान् ने हम सबको बनाया है तो वह भी छुआछूत नहीं मानता है और अगर वह ऐसा मानते है तो मैं उन्हें भगवान नहीं कहूंगा।

क्या पता ये भगवान की मर्जी हो की मैं जिस वजह का प्रतिनिधित्व करता हूँ, उसे मेरे आजाद रहने से ज्यादा मेरे दुखी होने से अधिक लाभ मिले।

यह सत्य है कि बारिश की कमी के कारण अकाल पड़ता है, लेकिन यह भी सत्य है कि हमारे लोगों में इस बुराई से लड़ने की शक्ति नहीं है।

भारत देश अपनी आजादी के लिए जब तक खून बहाता रहेगा जब तक यहां सिर्फ मानव कंकाल नहीं बचते है।

महान कार्य कभी आसानी से नहीं होते है और आसानी से किये हुए कार्य कभी महान नहीं होते है।

आपको अपने लक्ष्य प्राप्ति के लिए कार्य करना पड़ेगा प्रयत्न करना पड़ेगा क्योंकि आपका कोई भी कार्य किसी जादू से नहीं बल्कि करने से पूरा होगा।

आप हमेशा अपने आप पर विश्वास रखें कि भगवान् आपके साथ है यही विश्वास काफी है अपने आपको मजबूत बनाने के लिए।

प्रगति स्वतंत्रता में निहित है। बिना स्वशासन के न औद्योगिक विकास संभव है, न ही राष्ट्र के लिए शैक्षिक योजनाओं की कोई उपयोगिता है। इसलिए देश की स्वतंत्रता के लिए प्रयत्न करना किसी भी कार्य से अधिक महत्वपूर्ण है इससे पहले कोई भी सामाजिक कार्य करना किसी भी तरह से लाभदायक नहीं।

लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक थॉट्स इन हिंदी

हिन्दुस्तान की पूरी तरह से गरीबी

हिन्दुस्तान की पूरी तरह से गरीबी का कारण वर्तमान समय के शासन की वजह से है।

Bal Gangadhar Tilak Quotes In Hindi - बाल गंगाधर तिलक के अनमोल विचार

भूविज्ञानी पृथ्वी का इतिहास वहां से उठाते हैं जहाँ से पुरातत्वविद् इसे छोड़ देते हैं, और उसे और भी पुरातनता में ले जाते हैं।

यदि हम किसी भी देश के इतिहास को अतीत में जाएं, तो हम अंत में मिथकों और परम्पराओं के काल में पहुंच जाते हैं जो आखिरकार अभेद्य अन्धकार में खो जाता है।

एक बहुत प्राचीन सिद्धांत है की ईश्वर उनकी ही सहायता करता है, जो अपनी सहायता आप करते हैं! आलसी व्यक्तियों के लिए ईश्वर अवतार  नहीं लेता ! वह उद्योगशील व्यक्तियों के लिए ही अवतरित होता है ! इसलिए कार्य करना शुरु कीजिये !

अर्थार्थ आपका कर्तव्य पथ फूलों और सुगंध से नहीं बल्कि काँटों और दुर्गन्ध से भरा होता है।

“आप केवल कर्म करते जाइए, उसके परिणामों पर ध्यान मत दीजिये। आपके द्वारा किये जा रहे आपके अच्छे कर्मों का फल जरूर ही अच्छा ही मिलेगा।

अपने हितों की रक्षा के लिए यदि हम स्वयं जागरूक नहीं होंगे तो दूसरा कोन होगा? हमे इस समय सोना नहीं चाहिये, हमे अपने लक्ष्य की पूर्ति के लिए प्रयत्न करना चाहिये।

आपके लक्ष्य की पूर्ती स्वर्ग से आये किसी जादू से नहीं हो सकेगी! आपको ही अपना लक्ष्य प्राप्त करना है ! कार्य करने और कढोर श्रम करने के दिन यही हैं।

जब लोहा गरम हो तभी उस पर चोट

जब लोहा गरम हो तभी उस पर चोट कीजिये और आपको निश्चय ही सफलता का यश प्राप्त होगा।

मनुष्य का प्रमुख लक्ष्य भोजन प्राप्त करना ही नहीं है! एक कौवा भी जीवित रहता है और जूठन पर पलता है।

गर्म हवा के झोंकों में जाए बिना, बिना कष्ट उठाये, बिना पैरों मे छाले पड़े स्वतन्त्रता नहीं मिल सकती। बिना कष्ट के कुछ नहीं मिलता।

धर्म और व्यावहारिक जीवन अलग नहीं हैं। सन्यास लेना जीवन का परित्याग करना नहीं है।  असली भावना सिर्फ अपने लिए काम करने की बजाये देश को अपना परिवार बना मिलजुल कर काम करना है। इसके बाद का कदम मानवता की सेवा करना है और अगला कदम ईश्वर की सेवा करना है।

Bal Gangadhar Tilak Quotes In Hindi – बाल गंगाधर तिलक के अनमोल विचार से सम्बंधित अन्य सुविचार

प्रिय दोस्तों, में आशा करती हूँ की आपको Bal Gangadhar Tilak Quotes In Hindi – बाल गंगाधर तिलक के अनमोल विचार को पढ़कर अच्छा लगा होगा. बाल गंगाधर तिलक प्रेरणा देने वाले अनमोल विचार – Bal Gangadhar Tilak Quotes In Hindi ने आपको इंस्पायर्ड और मोटिवेट किया होगा.

आप हमें कमेंट करके बताएं कि आपको कौन सा सुविचार अच्छा लगा है. यदि आपको इस Bal Gangadhar Tilak Quotes In Hindi – बाल गंगाधर तिलक के अनमोल विचार की पोस्ट से सम्बंधित कोई भी समस्या है तो आप हमे Comments करके पूछ सकते है.

Share This Post On

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *