Recent Post
 

50 Best Psychological Facts In Hindi – बेस्ट 50+ मनोवैज्ञानिक तथ्य हिंदी में

Best 50+ Psychological Facts In Hindi

नमस्ते दोस्तों ! आज में आपको कुछ ऐसे facts के बारे में बतायेगे जिन्हें पढने के बाद आप ही बोलोगेwow क्या facts लिखे भाई ने और आप इन्हें पढ़ के काफी बातो के बारे जानोगे तो चलिए दोस्तों जानते है 50+ Lsychological facts in Hindi के बारे में वो भी अपनी मात्र भाषा हिंदी में

50 Best Psychological Facts In Hindi – बेस्ट 50+ मनोवैज्ञानिक तथ्य हिंदी में

क्या आप जानते की भी तक वैज्ञानिक भी ये नहीं पता लगा पाए है की हमें सपने क्यों आते है और ये सपने हमारी असल जिंदगी मे क्या मायने रखते है।

किसी प्रियजन का हाथ पकड़ने से हमारा तनाव कम हो सकता है और हम अधिक शांत और खुश महसूस करते हैं।

लोग अपने Life की negative चीज़ों से दूर भागने के लिए music सुनते हैं।

हम जितने ख़ुश रहेंगे, हमें उतनी ही कम नींद की आवश्यकता होगी.

खुशी के आँसू हमेशा सबसे पहले दाएँ आँख से गिरते हैं, और गम के – बाएँ।

उच्च आवृत्ति (High-Frequency) वाले संगीत को सुनने से आप शांत, तनावमुक्त और खुशी महसूस करते हैं।

जो लोग ज्यादातर दूसरों की बुराई या आलोचना करते रहते हैं, उनके अन्दर आत्म-सम्मान की कमी होती है।

हम कोई भी चीज़ अपनी आखों से नहीं बल्कि अपने दिमाग की मदद से देख पाते हैं। आँख सिर्फ Information को लेने का काम करती है और हमारे दिमाग तक पहुंचाती है।

खुशी, क्रोध, उदासी, भय, घृणा और आश्चर्य ये ६ भावनाएं सार्वभौमिक रूप से पूरे विश्व में व्यक्त की जाती हैं.

एक सर्वेक्षण में पाया गया है कि 82% लोग किसी आकर्षक व्यक्ति के पास जाने में तब अधिक आत्मविश्वास महसूस करते हैं, जब उस व्यक्ति के साथ उसका कुत्ता होता है.

सबसे मजबूत और सबसे लंबे समय तक चलने वाली दोस्ती लगभग 16 और 28 वर्ष की आयु के बीच में होती है।

एक अध्ययन में पाया गया, कि वे करोड़पति जिन्होंने अपनी संपत्ति अपने बलबूते पर अर्जित की है, वह आमतौर पर उन करोड़ पतियों की तुलना में अधिक संतुष्ट और खुश रहते हैं, जिनको यह संपत्ति विरासत में मिलती है।

बेतुकी बातों का व्यंग्यात्मक उत्तर देने वाले व्यक्ति का दिमाग अधिक स्वस्थ होता है.

पुरुष का मस्तिष्क महिला के मस्तिष्क से 10% बड़ा होता है। लेकिन महिलाओं का मस्तिष्क कार्य करने के लिए अधिक कुशल होता है।

आमतौर पर लोग सोचते हैं, कि पुरुष महिलाओं की तुलना में काफी मजेदार होते हैं। लेकिन वास्तव में वे सिर्फ अधिक मजाक करते हैं, और वह इस बात पर ध्यान नहीं देते हैं, कि अन्य लोग उनके हास्य को पसंद कर भी रहे है या नहीं।

“Wrap rage” या “package rage” वह क्रोध और हताशा होती है, जब आप कोई पैकेज खोल नहीं पाते.

एक अध्ययन अनुसार लगभग 72% लोगों के दिमाग में रचनात्मक विचार नहाते समय आते हैं.

आपकी भौं (Eyebrow) हर 64 दिन में दोबारा आना शुरू हो जाती है।

अगर आप अपने पसंदीदा गाने को अपना अलार्म बना लेते हो तो आप उसे नापसंद करने लगते हो।

किसी जोक पर हंसने के लिए हमारे दिमाग को पांच अलग-अलग हिस्सों में काम करना पड़ता है.

लंबे समय तक अकेले रहना आपकी सेहत के लिए उतना ही बुरा है, जितना एक दिन में 15 सिगरेट पीना.

शोध में पाया गया है कि कोई महिला किसी बात को औसतन 47 घंटे और 15 मिनट तक ही गुप्त रख सकती है.

मनुष्य के दिमाग के वजन का सम्बन्ध उसके दिमाग की शक्ति से नहीं होता।

जब लोग किसी चर्चा या वार्तालाप को छोड़ना चाहते हैं, तो वे बार-बार अपने पैरों को आगे-पीछे करते हैं, या अपने पैरों को चारों ओर घुमाना शुरू करते हैं।

गुड मॉर्निंग और गुड नाइट टेक्स्ट मेसेज दिमाग के उस हिस्से को सक्रिय करते हैं, जो ख़ुशी के लिए ज़िम्मेदार होता है.

महिलाएं पुरुषो की तुलना में ज्यादा चेहरे याद रख सकती हैं।

महिलाएं पुरुषों के मुकाबले लगभग दोगुनी पलकें झपकाती हैं।

जो लोग हमेशा depression से ग्रसित होते हैं वह बहुत से रंग़ों को समझ नहीं पाते और ना ही उनमें अंतर कर पाते हैं। ऐसे लोगों की रंगों के प्रति संवेदनशीलता भी समाप्त हो जाती है।

यदि कोई असामान्य तरीके से खाना खाता है यानि वो किसी बात को लेकर बहुत चिंतित है।]

यह बात Research से सिद्ध हो चुकी हैं कि ज्यादातर औरतें अच्छे स्वभाव के पुरुष से बस दोस्ती करना पसंद करती हैं और बैड ब्वाय इमेज वाले स्वस्थ पुरुष को मन ही मन ज्यादा चाहती हैं।

हम कभी भी अपने दिमाग को 100% लापरवाह नहीं बना सकते. दिमाग का कोई न कोई हिस्सा हमेशा अपने प्रति सतर्क रहता है.

एक अध्ययन के अनुसार अपने बजाय दूसरों पर पैसा खर्च करने से ज्यादा ख़ुशी मिलती है.

सूर्य के प्रकाश में अधिम समय बिताने वाले लोग तनाव या अवसाद के शिकार कम होते हैं.

आपकी सबसे अच्छी मित्र आपकी प्रेमिका बन सकती है, लेकिन वही प्रेमिका वापस आपकी मित्र नहीं बन सकती।

जब लोग समूहों में बात करते हैं, तो 80% ये तय है कि वो किसी की बुराई या शिकायत कर रहे होते हैं।

हमारी मनोदशा हमारे बात करने के तरीके को प्रभावित नहीं करती. लेकिन जिस तरह से हम बात करते हैं, वह हमारी मनोदशा को प्रभावित करता है.

सुप्रभात और शुभ रात्रि के मैसेज आपके दिमाग के उस हिस्से को सक्रिय करते हैं, जो खुशी के लिए जिम्मेदार होता हैं।

यदि कोई इंसान किसी के बारे में सबसे ज्यादा बात (अच्छाई या बुराई) करता है तो इसका मतलब है वो उस इंसान से प्रभावित है।

जो लोग दो भाषाएं बोलते हैं, वे अनजाने में ही उस वक़्त अपना व्यक्तित्व बदल लेते है, जब वे एक भाषा से दूसरी भाषा में स्विच करते हैं.

आप सोते हो लेकिन आपका दिमाग कभी नहीं सोता।

जब लोग यह कहते हैं कि ‘आप बदल गए हो’ तो उनका मतलब होता है कि आप अब उनकी जरूरत के काम नहीं करते हो। बाकी आपमें कुछ और नहीं बदला है।

हमारा नाक 50,000 प्रकार के महक को याद रख पाता है, और पहचान पाता है।

सुंदर लड़कियों को देखकर डर लगना काफी अजीब है, लेकिन इसे कैलिगनीफोबिया (Caligynephobia) कहते हैं।

दुनिया के 85% लोग सोने के पहले प्लान्स के बारे सोचते हैं, जो वे अपनी ज़िंदगी में करना चाहते हैं.

देखने में आकर्षक नेता (Politician) को मीडिया में बाकी कम आकर्षक नेताओं की तुलना में ज्यादा कवरेज मिलती है।

बहुत सारा खाना खाने के बाद, हमें ठीक तरह से सुनाई नहीं देता है।

शारीरिक रूप से थक जाने पर लोग अधिक ईमानदार हो जाते हैं. यही कारण है कि देर रात बातचीत के दौरान लोग कई बातों को कबूल कर लेते हैं.

ज़्यादा देर तक चुप रहने का अर्थ ये होता है कि आप को लगता है कि सामने वाले को आपकी बात को नहीं सुनना चाहते।

किसी के साथ ज्यादा समय बिताने से आप उसकी आदतें अपनाने लगते हैं।

हम एक बार में सिर्फ 3-4 चीज़ों को याद रख सकते हैं।

आप कितनी भी कोशिश करने के बाद यह याद नहीं रख सकते कि आपका सपना कैसे शुरू हुआ था.

हम एक बार में सिर्फ 3-4 चीज़ों को याद रख सकते हैं।

सनग्लासेज पहनने से व्यक्ति के चेहरे में समरूपता के साथ ही रहस्यमयी लुक भी आ जाता है, अतः आप अधिक आकर्षक लगने लगते हैं।

कई अध्ययनों के द्वारा पता चला है की महिलाएं औसतन 47 घंटे और 15 मिनट से ज्यादा किसी भी सीक्रेट बात को अपने तक नहीं रख सकती हैं.

आँखें बंद करने से हमें चीज़ों को याद करने की क्षमता मिलती है।

हमारा मस्तिष्क उन कामों को महत्वपूर्ण नहीं मानता है जिनको पूरा करने के लिए अभी काफी समय बचा हुआ है। जिन कामों की समय-सीमा एक दम सिर के ऊपर होती है, हमारा दिमाग उन कामों को ही priority देता है.

अपने सबसे अच्छे दोस्त से शादी करने से तलाक का जोखिम 70% तक ख़त्म हो जाता है और यह शादी जीवन भर चलने की संभावना बढ़ जाती है.

जिन लड़कियों का बुद्धि स्तर (IQ Level) ज्यादा होता है, उनको जीवनसाथी तलासने में ज्यादा समस्या आती है।

मेरे प्रिय दोस्तों, में आशा करता हूँ की आपको Best 50+ Psychological Facts In Hindi – बेस्ट 50+ मनोवैज्ञानिक तथ्य हिंदी में रोचक तथ्य. को पढ़कर अच्छा लगा होगा। साइकोलॉजी के बारे में रोचक बातों ने आपको मोटीवेट किया होगा। और साइकोलॉजी के बारे में आपको बहुत से अजीब और गजब तथ्यों के बारे में भी पता चला होगा।

आप हमें कमेंट करके बताएं कि आपको Psychological के बारे में कौन सी रोचक बात सबसे अधिक पसंद आई। यदि आपको इस Best 50+ Psychological Facts In Hindi – बेस्ट 50+ मनोवैज्ञानिक तथ्य हिंदी में रोचक तथ्य की पोस्ट से सम्बंधित कोई भी समस्या है तो आप हमे Comments करके पूछ सकते है।

Share This Post On

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *